कंप्यूटर

Defination of computer
computer and theirs components

अगर कंप्यूटर की बात की जाए तो आज के समय में कंप्यूटर मानव जीवन में बहुत ही बड़ी भूमिका निभा रहा है और इसका उपयोग दिन प्रतिदिन बढ़ता ही जा रहा है कंप्यूटर मानव निर्मित उपकरण है लेकिन इसका उपयोग इस प्रकार से हो रहा है कि हम यह भी कह सकते हैं कि जैसे कि यहां मानव पर निर्भर नहीं है बल्कि मानो इस पर निर्भर हो चुका है अगर कंप्यूटर जगत की बात की जाए तो कंप्यूटर आज के इस दौर पर किसी भी काम को करने में सक्षम है और यह इंसान के मुकाबले बहुत ही ज्यादा दोगुनी स्पीड में काम करता है जो इंसान घंटों में नहीं कर सकता या वह काम सेकंड में कर सकता है और यहां इतना जरूरी हो चुका है कि किसी भी विभाग में किसी भी प्रकार के काम में इसका उपयोग किया जाता है ।
आज हम जानने वाले हैं कि कंप्यूटर क्या होता है और इसकी कैसे उत्पत्ति हुई और किस लिए इसका उपयोग होता है और क्या-क्या काम होता है।
कंप्यूटर शब्द का अर्थ होता है संगणक संगणक इसका हिंदी वाक्य है और इसका मुख्य रूप से काम होता है किसी भी चीज की गणना करना कंप्यूटर का मुख्य रूप से यही काम होता है इसीलिए इसे संगणक कहते हैं।
या शब्द लैटिन भाषा से उत्पन्न हुआ है और 17वीं शताब्दी में इस शब्द का अर्थ था गणना करना अमेरिका के हेरीटेज डिक्शनरी ने 1980 में कंप्यूटर की गणना की और कंप्यूटर की परिभाषा दी।

कंप्यूटर के कार्य


कंप्यूटर के अगर कार्यों की बात की जाए तो मुख्य रूप से या चार प्रकार से ही काम करता है
डाटा प्राप्त करना यानी कि इनपुट
 डाटा को प्रोसेस करना यानी की प्रोसेसिंग
आउटपुट देना 
और स्टोरेज करना

 Input


इनपुट से मतलब है कि जब आप कंप्यूटर यूज करते हैं और किसी भी प्रकार का उसे आदेश देते हैं जो उसको प्राप्त होता है उसे इंटर कहते हैं जैसे कि आपने उसमें कुछ लिखा तो या इनपुट है इनपुट में आप अक्षर संख्याएं और चित्रों का यूज़ होता है। जैसे कि कीबोर्ड माउस टच स्क्रीन बारकोड रीडर स्केनर micr ओमर ।

प्रोसेस


प्रोसेस से मतलब है जब आप कोई भी इनपुट देते हैं चाहे वह चित्र हो संख्या हो अक्षरों तो जो भी आपने उसे इनपुट दिया है यानी कि आदेश दिया है उसको वहां उस समय दिए गए इनपुट के अनुसार कार्य करें यह कंप्यूटर की आंतरिक प्रक्रिया होती है जो इनपुट के अनुसार ही काम करता है

आउटपुट


आउटपुट से मतलब है जब आप इनपुट देते हैं फिर वह उस इनपुट को प्रोसेस करता है प्रोसेस के बाद जो वह आपको देता है रिजल्ट उसे हम आउटपुट कहते हैं। जैसे कि मॉनिटर प्रिंटर प्लॉटर प्रोजेक्टर।

कंप्यूटर सिस्टमकंप्यूटर

को हम कुछ ऐसे समझ सकते हैं
कंप्यूटर सिस्टम= हार्डवेयर + सॉफ्टवेयर + यूजर
सॉफ्टवेयर = प्रोग्राम
सॉफ्टवेयर कंप्यूटर को इंटेलिजेंस प्रदान करता है।
यूजर्स= व्यक्ति जो कंप्यूटर चलाता है
आइए आप कंप्यूटर की जनरेशन पर बात करते हैं।

कंप्यूटर की जनरेशन
पहला जनरेशन

कंप्यूटर का पहला जनरेशन 1940 से 1956 के बीच में आया पहले ज नेशन के कंप्यूटर में वैक्यूम ट्यूब का प्रयोग होता था और निर्देश देने के लिए मशीन लैंग्वेज का इस्तेमाल होता था। और यह कंप्यूटर आकाश में बड़े होते थे और इनका प्रोग्रामिंग कठिन था तथा इसमें बिजली की भी बहुत ज्यादा खपत होती थी इस जनदर्शन के कुछ कंप्यूटर्स के नाम हैं जैसे कि
E n i a c  Edvac Edsac और Univac-1
 Computers   थे।

दूसरा जनरेशन 

दूसरा जनरेशन 1956 से 1963 के बीच में अगर दूसरे जनरेशन की कंप्यूटर की बात की जाए तो इसमें वेक्यूम ट्यूब के स्थान पर ट्रांजिस्टर का इस्तेमाल होता था इसमें ट्यूब्स द्वारा आवश्यक बिजली का केवल 10 /1 बिजली ही का यूज होती थी।और इस जनरेशन के कंप्यूटर से गर्मी निकलती थी और इन कंप्यूटर्स पर भरोसा किया जा सकता था और पहले ऑपरेटिंग सिस्टम का विकास इसी जनरेशन में हुआ था।

तीसरा जनरेशन


अगर तीसरे जनरेशन की बात की जाए तो यह 1964 से 1971 के बीच में था और तीसरे जनरेशन के कंप्यूटर में ट्रांजिस्टर की जगह इंटीग्रेटेड सर्किट का इस्तेमाल होता था जिसे आप दी चिप भी कह सकते हैं।
स्माल स्केल इंटीग्रेटेड सर्किट जिसमें प्रतीक्षित 10 ट्रांजिस्टर लगते थे और या तकनीकी रूप से विकसित होकर सौर ट्रांजिस्टर प्रति चिप वाले m.s.i. सर्किट में बदल गया।अगर इनके आकार की बात की जाए तो या कंप्यूटर दूसरे और पहले जनरेशन के कंपेयर में बहुत तेज और उनसे कई ज्यादा छोटे और भरोसेमंद होते थे।

चौथा जनरेशन

चौथा जंजीर सन 1972 से आज तक इस जनरेशन में lsi और vlsi का प्रयोग किया गया जिसके बाद माइक्रो प्रोसेसर का जन्म हुआ इस तकनीकी का प्रयोग करने वाले कंप्यूटर्स को माइक्रोकंप्यूटर भी कहते हैं।

पांचवा जनरेशन


5वी जनरेशन की बात की जाए तो वर्तमान और इसके बाद आने वाली जनरेशन है 5वी जनरेशन के कंप्यूटिंग डिवाइसेज ओं आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस पर आधारित है का विकास अभी भी जारी है और कुछ ऐसी एप्लीकेशन है जैसे वॉइस रिकॉग्नाइजेशन जिसका इस्तेमाल अभी भी किया जा रहा है।
कंप्यूटर का आर्किटेक्चर
Architecture of computer
Architecture of computer

सेंट्रल प्रोसेसिंग यूनिट CPU


या कंप्यूटर को चलाने में बहुत बड़ी भूमिका निभाती है जिसे आप चुप के नाम से जानते हैं माइक्रोप्रोसेसर। तथा इसे सीपीयू unit भी कहते हैं।

विंडोज


जवाब कंप्यूटर ओपन करते हैं तो विंडो के कुछ दृश्य आपको देखने को मिलते हैं जैसे कि डेक्सटॉप माय कंप्यूटर रिसाइकल बीन स्टार्ट बटन टास्कबार और एप्लीकेशन के शॉर्टकट होते हैं यह सब विंडोज और इसके घटक होते हैं और इन सब बातों का ज्ञान होना आपके लिए बहुत ही जरूरी होता है क्योंकि अगर आपको कंप्यूटर चलाना है तो इन बेसिक चीजों का नॉलेज होना ही चाहिए।

डेक्सटॉपDesktop


डिस्टर्ब होता है जो आपके सामने स्क्रीन होती है और स्क्रीन को ही डेक्सटॉप करते हैं जिसे आप विंडो आरंभ करते समय देखते हैं और यह कंप्यूटर के लिए बहुत ही जरूरी होता है या कंप्यूटर का लगभग मुख्य भाग होता है। जिसे आप मॉनिटर भी कहते हैं।

आइए आपको कुछ कंप्यूटर के बेसिक शॉर्टकट बताते हैं।

जैसे किसी भी चीज को पूरा सेलेक्ट करना हो तो कंट्रोल ए दबाएं
जब कॉपी करना हो तो कंट्रोल सी दवाएं
जब पेस्ट करना हो तो कंट्रोल v दबाए
Control z यह बहुत जरूरी होता है इससे मुख्य रूप से अंडो बोलते हैं पर इसका काम बहुत जरूरी होता है और यह आपके लिए जानना बहुत जरूरी है अगर किसी भी प्रकार का कोई काम कर रहे हैं और जो भी आपने डाटा डाला है आपसे एक गलती होने पर हुआ अगर डिलीट हो जाए तो आप कंट्रोल जेड दबाकर उस डाटा को तुरंत वापस कर सकते हैं।
ऑल टाइप f 4 
या अभी आपके लिए बहुत जरूरी होता है अगर आपको कंप्यूटर को शटडाउन करना हो या रीस्टार्ट करना हो तो या शॉर्टकट की होती है इसको दबाने से आप डायरेक्ट ही सन्डाउन तक पहुंच जाएंगे और उसको दबाने के बाद जैसे ही आप डायरेक्ट इंटर करेंगे आपका कंप्यूटर या लैपटॉप शटडाउन हो जाएगा।

 कंप्यूटर के प्रकार 

आइए जानते हैं कंप्यूटर कितने प्रकार के होते हैं
पीसी
पर्सनल कंप्यूटर
डेक्सटॉप
लैपटॉप
नेट बुक
पीडीए
वर्क स्टेशन
सरवर
मेनफ्रेम
सुपर कंप्यूटर
वियरेबल कंप्यूटर

PC

मैकबुक लैपटॉप कंप्यूटर
मैकबुक

 यह सिंगल यूजर के लिए होता है इसे माइक्रोकंप्यूटर भी कहते हैं मैं मैक पीसी होता है
डेक्सटॉप
What is desktop
Desktop computer

या डेक्सटॉप कंप्यूटर होता है इसे कहीं लाया ले जाया जा सकता है इसे एक ही जगह पर रखा जाता है यह पीसी जैसे पोटेबिलिटी को ध्यान में रखकर नहीं तैयार किया गया है वह डेक्सटॉप कंप्यूटर होता है।

लैपटॉप


लैपटॉप कंप्यूटर
लैपटॉप

इसे नोटबुक भी कहते हैं लैपटॉप प्रो टेबल कंप्यूटर होते हैं जिसमें डिस्पले कीबोर्ड प्वाइंट इन डिवाइस व ट्रैकबॉल प्रोसेसर मेमोरी और हार्डवेयर ड्राइवर को एक बैटरी के साथ बनाया गया है।

नेट बुक


नेटबुक ultra-portable कंप्यूटर होते हैं जो लैपटॉप से छोटे होते हैं अर्थात या लैपटॉप से सस्ते होते हैं और इन्हें आप लैपटॉप के मुकाबले कम पैसों में ही खरीद सकते हैं जबकि नेट बुक लैपटॉप के मुकाबले कम ताकतवर होता है।

पीडीए


पर्सनल डिजिटल असिस्टेंट या इंटीग्रेटेड कंप्यूटर सोते हैं इसमें स्टोरेज के लिए हार ड्राइवर की जगह प्लस मेमोरी इस्तेमाल होती है ऐसे कंप्यूटर में कीबोर्ड नहीं होते हैं लेकिन यूजर इनपुट के लिए टचस्क्रीन तकनीकी सुविधा होती है।

वर्क स्टेशन

कंप्यूटर का या दूसरा प्रकार होता है कोई वर्क स्टेशन महज एक डेक्सटॉप होता है जिसमें बहुत ही हाई क्वालिटी की प्रोसेसिंग होती है तथा अतिरिक्त मेमोरी और बहुत ज्यादा क्षमताएं भी होते हैं इसका इस्तेमाल 3 डी ग्राफिक्स या गेम डेवलपमेंट्स में किया जाता है।

सरवर

What is server network
सर्वर कंप्यूटर

या ऐसे कंप्यूटर होते हैं जिन्हें अन्य और कंप्यूटर्स के साथ जोड़ा जाता है इससे आप कह सकते हैं कि यह कंप्यूटर और कंप्यूटर को सर्विस प्रदान करते हैं इसमें हाई प्रोसेसिंग होती है बड़ी मेमोरी और विशाल और अधिक क्षमता वाले हार्ड ड्राइव होते हैं और यह बहुत बड़ा होता है।

मेनफ्रेम


मेनफ्रेम कंप्यूटर अगर पहले शुरुआती समय की बात किया जाए तो मेनफ्रेम कंप्यूटर पहले बहुत बड़े हुआ करते थे जो लगभग पूरे कमरे में फैल जाते थे अब इसका इस्तेमाल बड़ी-बड़ी कंपनियों में किया जाता है क्योंकि उन कंपनियों में बहुत ही ज्यादा ट्रांजैक्शन किए जाते हैं और ट्रांजैक्शन के लिए मेनफ्रेम कैसे कंप्यूटर बहुत ही बढ़िया होते हैं।

सुपर कंप्यूटर


सुपर कंप्यूटर यह कंप्यूटर बहुत ही ज्यादा महंगे होते हैं अधिकांश सुपर कंप्यूटर एक सिंगल सिस्टम के रूप में ही काम करते हैं या कंप्यूटर मेनफ्रेम कंप्यूटर जैसे ही होते हैं और इनका भी परफॉर्मेंस बहुत अच्छा होता है।

Wearable computer


Digital small computer
स्मार्ट वॉच कंप्यूटर

यह कंप्यूटर बहुत ही छोटे होते हैं जो आपके गाड़ियों सेल फोन नो वाईएस और यहां तक कि कपड़ों में भी फिट हो सकते हैं स्मार्ट वॉच मैं भी ऐसे कंप्यूटर्स आने लगे हैं। इनका उपयोग सामान्यता कुछ पता लगाने के लिए किया जाता है कानूनी तौर पर इन कंप्यूटर का इस्तेमाल होता है क्योंकि यह कार में बहुत छोटे होते हैं और देखते भी नहीं है तो इससे कई प्रकार से बहुत सारी जानकारियां प्राप्त की जा सकती है और स्टोर की जा सकती हैं कि सरकार से आप कह सकते हैं यह कंप्यूटर बहुत ही ज्यादा शक्तिशाली होते हैं।