How to be fit

चलिए आज हम जानते हैं कि हम हमेशा फिट कैसे रह सकते हैं
fitman
How to be fit

जैसा कि आप जानते हैं एक अच्छा जीवन जीने के लिए हमारे शरीर का स्वस्थ रहना बहुत जरूरी है और ऐसे में अगर आप स्वस्थ और फिट नहीं रहेंगे तो आपने कई प्रकार की बीमारियां उत्पन्न होंगी और आप बीमारियों से ग्रसित हो जाते हैं और धीरे-धीरे आपकी इन्हीं बीमारियों के कारण आपकी आयु भी कम होती जाएगी फिट रहने के लिए जैसा कि आप सभी जानते हैं हमारे शरीर का फिट ही जरूरी नहीं है इसके साथ साथ हमें अपने दिमाग से भी फिट होना पड़ेगा क्योंकि यहां पर बात हम कर रहे हैं
 कि हम कैसे फिट रह सकते हैं तो मैं आपको दोनों ही तरीके बताऊंगा जिससे कि आप फिट रह सकें क्योंकि यह दोनों ही तरीके आपके लिए और हम सबके लिए बहुत ज्यादा जरूरी है क्योंकि अगर आप फिजिकली फिट रहेंगे और मेंटली डिस्टर्ब रहेंगे तो इसका आपके शरीर पर बहुत बड़ा असर पड़ेगा और अगर आप फिजिकली और मेंटली दोनों ही फिट करते हैं तो आप हमेशा स्वस्थ रहेंगे फिजिकली फिट होना उतना ही जरूरी है
 जितना कि मेंटली फिट होना और अगर मेंटली फिट होने की बात की जाए तो मेरा मानना यह है कि फिजिकली फिट होने से ज्यादा बेहतर है कि हम मेंटली फिट हो क्योंकि हमारा दिमाग की है जो हमें बनाता है और हमें दिशा दिखाता है तो आशा करता हूं आप इस बात को समझ चुके होंगे और आइए हम आपको आगे बताते हैं या दोनों ही तरीके कि कैसे आप इन दोनों तरीकों को अपनाकर एक स्वस्थ और अच्छा जीवन जी और हमेशा फिट रहें तो चलिए शुरू करते हैं।

Physical fitnessMental fitness


ब्लॉग को पढ़ने के क्या फायदे

सबसे पहले अब हम आपको बताना चाहेंगे कि इस ब्लॉग को पढ़ने के क्या फायदे होंगे आपको आप या ब्लॉग पढ़ने के बाद जा समझ जाएंगे कि फिजिकली और मेंटली दोनों ही प्रकार से हमारे शरीर का फिट होना कितना जरूरी है और आगे हम आपसे वह तरीके भी शेयर करेंगे जिससे आप इन दोनों ही प्रकार से फिट रहेंगे।

फिजिकल फिटनेस

अब हम फिजिकल फिटनेस की बात करेंगे सबसे पहले तो हम आपको बता दें कि फिजिकल फिटनेस क्या होता है फिजिकल फिटनेस का मतलब है कि हमारा शारीरिक तौर से फिट रहना फिजिकल फिटनेस के लिए सबसे पहले तो जरूरी है कि हमारा डेली रूटीन में  खान पियन अच्छा होना चाहिए जैसे कि आप हेल्दी फूड ले टाइम से खाना खाएं टाइम से नाश्ता करें और वसायुक्त भोजन कम से कम करें प्रोटीन युक्त खाना खाएं और सुबह उठकर मॉर्निंग वॉक करें मेडिटेशन करें योगा करें और मुख्य रूप से फिजिकली फिट रहने के लिए रनिंग के साथ-साथ जिम जाए क्योंकि जिम जाने से आप फिजिकली फिट होंगे  तथा आपका शरीर भी आकर्षक बनेगा और आप पहले से ज्यादा बेहतर खूबसूरत और एक ग्रेट पर्सनालिटी के मालिक बनेंगे।
जिम जाने से पहले इन बातों का रखें ध्यान
अगर आप ने डिसाइड कर लिया है कि आप आप जिम जाएंगे तो हम आपको या स्ट्रांग्ली रिकमेंड कर रहे हैं कि जो हम आपको बताने जा रहे हैं उन बातों का आपको मूल रूप से ध्यान देना ही है अगर आप किसी जिम में जा रहे हैं तो आप इस बात का ध्यान रखें कि आपका जो ट्रेनर है वह प्रोफेशनल ट्रेन होना चाहिए क्योंकि जिम में अगर कुछ होता है तो वह है आपका trainerअभी क्योंकि अगर आपको सही दिशा नहीं मिलेगी तो जिम जाना आपके लिए घातक भी साबित हो सकता है और आप अगर बिना किसी ट्रेनर के जिम कर रहे हैं यह व ट्रेनर प्रोफेशनल नहीं है तो यह आपके लिए घातक साबित हो सकता है
इसे आपको कई प्रकार की परेशानियां हो सकती हैं जैसे कि नस खिंचाव या किसी मसल्स में इंजरी होना और भी कई प्रकार की दिक्कतें आ सकते हैं तो आपको कुछ ऐसी बातों का ध्यान रखना है तभी आप जिम में जाएं और अपने आप को फिट बनाने के लिए आपको इन बातों का ध्यान देना ही पड़ेगा।

Mentally fitness


मेंटली फिटनेस पाने के लिए आपको दिमाग दिमाग से फिट होना पड़ेगा क्योंकि दिमाग से फिट होना हमारी सोच से फिट होना ही मेंटली फिटनेस होता है। मेंटली फिट होने के लिए 
how to be fit by mind
mentally fit

आपको अपनी डेली रूटीन में कुछ बदलाव करने पड़ेंगे जैसे कि मॉर्निंग वॉक के साथ साथ आप मेडिटेशन योगा करें क्योंकि मॉर्निंग वॉक करने से आप नेचुरल तरीके से अपने मन को फिट करते हैं और इसी के साथ-साथ अगर योगा और मेडिटेशन जैसी क्रियाएं कर लिया जाए तो या आपके लिए सोने पर सुहागा जैसा हो सकता है क्योंकि इसमें आप दोनों ही प्रकार से फिट होंगे मेंटली और फिजिकली दोनों है या आपके लिए बहुत ही बढ़िया और फायदेमंद साबित होगा। 
इन दोनों तरीकों को अपनाने से होते हैं कई प्रकार के फायदे जाने वह कौन से फायदे हैं
जैसा कि हमने आपको पहले बताया कि अगर आप मेंटली और फिजिकली दोनों प्रकार से ही फिट रहते हैं तो यह आपके लिए बहुत ही अच्छा है क्योंकि अगर आप इस तरह से अपने आप को फिट रखते हैं तो आप में कई प्रकार की बीमारियां नहीं होते हैं जैसे कि शुगर का ना होना ब्लड प्रेशर जैसी गंभीर बीमारियों से छुटकारा  मिलता है अगर आपने ऐसी दिक्कतें हैं तो भीआपके लिए फायदेमंद होगा और आप को छुटकारा मिलेगा और अगर नहीं है तब भी आपको ऐसी बीमारियां नहीं होंगे।